पाकिस्तान में नवाज की कुर्सी जाने से आर्मी को फायदा, आतंकी हमले बढ़ सकते हैं

पाक आर्मी को फायदा

Share Now

पाकिस्तान में नवाज की कुर्सी जाने से आर्मी को फायदा, आतंकी हमले बढ़ सकते हैं

पाकिस्तान में नवाज की कुर्सी जाने से आर्मी को फायदा, आतंकी हमले बढ़ सकते हैं। पाक के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को अयोग्य ठहरा दिया गया है। इसके बाद पाकिस्तान में उत्पन्न हुई राजनीतिक अनिश्चितता का फायदा इस मुस्लिम देश की सेना उठाएगी, जो भारत के खिलाफ फिर से ज्यादा आक्रामक रूप से आतंकवादी हमले का इस्तेमाल कर सकती है।

विदेश नीति के जानकारों ने रविवार को यह अंदेशा जताया। उन्होंने यह भी मान लिया है कि यदि पाकिस्तानी सेना भारत के साथ संबंध बेहतर करने की कोशिश नहीं करती तो पहले से बिगड़े हुए भारत-पाक संबंध और ज्यादा बिगड़ सकते हैं। पाकिस्तान में १९९८ से २००० तक भारत के उच्चायुक्त रहे जी पार्थ सारथी ने कहा कि पाकिस्तान में राजनीतिक अनिश्चितता और अस्थिरता का फायदा इस देश की सेना उठाएगी।

सेना की हुकूमत का मतलब भारत के खिलाफ आतंकवादी समूहों को एक बार फिर सक्रिय करने की नीति को बढ़ावा देना होगा। अमेरिका में २००९ से २०११ तक राजदूत रहीं मीरा शंकर का भी यह मानना है कि इस्लामाबाद की आंतरिक अस्थिरता देश में पाक सेना के कब्जे को मजबूत बनाएगी।

१९९९-२००० में भारत के विदेश सचिव रहे ललित मानसिंह ने कहा कि पाकिस्तान में राजनीतिक अस्थिरता सेना को आगे बढ़ाएगी और ऐसे परिदृश्य में वह भारत के खिलाफ आतंकवादी गतिविधियों को और अधिक आक्रामक बनाएगी।

मानसिंह ने यह भी कहा कि पाकिस्तान दोकलम पर भारत-चीन गतिरोध का फायदा भारत के खिलाफ सीमा पार आतंकवादी हमले बढ़ाकर ले सकता है और इस्लामाबाद की आंतरिक राजनीतिक संरचना पाक सेना को इसके लिए उत्तेजित करने का काम कर सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *