मुरादाबाद, रामपुर समेत 4 सीटों पर कौन आगे, कौन पीछे

elections

Share Now

अपडेट- संभल में 9वें राउंड की गणना में भाजपा के परमेश्वर लाल सैनी को 169938  सपा बसपा गठबंधन उम्मीदवार डॉ शफीकुरर्हमान बर्क को 196165 वोट मिले। बर्क 26227 वोटों से आगे।

अपडेट- मुरादाबाद में 17वें चक्र के बाद गठबंधन उम्मीदवार एस टी हसन 62302 मतों से भाजपा के सर्वेश से आगे. हसन को 375682और सर्वेश को 313380 वोट मिले।

अपडेट- मुरादाबाद में 16वें चक्र के बाद गठबंधन उम्मीदवार एस टी हसन 60024 मतों से भाजपा के सर्वेश से आगे। हसन को 352486 और सर्वेश को 292462 वोट मिले।

अपडेट- रामपुर में 13वें चक्र की गणना के बाद गठबंधन उम्मीदवार आज़म खां 99099 मतों से आगे. आज़म को अब तक 310022 और भाजपा की जयाप्रदा को 210923 वोट मिले।
अपडेट- अमरोहा में 18वें चक्र की गणना के बाद (688422) मतों की गिनती के बाद।

गठबंधन- 370715
भाजपा- 299550
कांग्रेस-7932
गठबंधन प्रत्याशी दानिश अली भाजपा के कंवर सिंह तंवर से 71165 वोट से आगे।

अपडेट- मुरादाबाद में 13वें चक्र में गठबंधन उम्मीदवार डॉ एस टी हसन 68555 मतों से आगे. हसन को 294194 भाजपा के सर्वेश को 225639।
अपडेट- रामपुर में 8 वें चक्र की गणना में गठबंधन उम्मीदवार 74952 वोटों से निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा की जयाप्रदा से आगे. आज़म को I 227188 और जयाप्रदा को 152336 मत मिले हैं।

अपडेट- मुरादाबाद में 13वें चक्र में गठबंधन उम्मीदवार डॉ एस टी हसन 68555 मतों से आगे। हसन को 294194 भाजपा के सर्वेश के 225639 वोट।

अपडेट- संभल में गठबंधन उम्मीदवार डॉ शफीकुरर्हमान बर्क भाजपा के परमेश्वर लाल सैनी से 35199 वोटों से आगे हैं। बर्क 140006, परमेश्वर को 104807 वोट छठे राउंड के बाद।
अपडेट- रामपुर से आज़म खां 65,645 वोटों से आगे।

अपडेट- अमरोहा यूपी  ( 16 चरण)
बीजेपी  कँवर सिंह तँवर  145860
गठबंधन कुँवर दानिश     180041
कांग्रेस सचिन चौधरी         4300
गठबंधन प्रत्याशी दानिश अली 34181 वोट से आगे।

अपडेट- रामपुर से आज़म खान 51,176 वोटों से आगे।
अपडेट- मुरादाबाद से गठबंधन उम्मीदवार एस टी हसन 59050 वोटों से आगे। 10वें चक्र की गणना। हसन 207303 और भाजपा के सर्वेश 148250।
अपडेट- अमरोहा यूपी  ( 15चरण)
बीजेपी  कँवर सिंह तँवर  142916
गठबंधन कुँवर दानिश     174166
कांग्रेस सचिन चौधरी         4195
गठबंधन प्रत्याशी दानिश अली 31250 वोट से आगे

अपडेट- रामपुर : छठे चक्र में गठबंधन प्रत्याशी आजम खान 38,114 वोट से आगे
आजम खान (गठबंधन) 1,22,078
जयाप्रदा (भाजपा)  83,964

अपडेट- संभल : तीसरे चक्र में गठबंधन प्रत्याशी डॉ बर्क 23,205 वोट से आगे।
डाॅ बर्क (गठबंधन) 73,762
परमेश्वर सैनी (भाजपा) 50,557
अपडेट- अमरोहा : 12वां चक्र
तंवर (भाजपा) : 1,10,309
दानिश अली(बसपा) 1,38018
गठबंधन 27709वोट से आगे
रामपुर में आजम खान की बढ़त 30 हजार तक पहुंच गई।
अपडेट- अमरोहा में गठबंधन प्रत्याशी दानिश अली ने भाजपा के तंवर को 22,750 वोट से पीछे छोड़ा।
अपडेट- मुरादाबाद : भाजपा के सर्वेश सिंह गठबंधन प्रत्याशी डॉ हसन से 233 वोट से आगे निकल गए।
अपडेट- संभल : गठबंधन प्रत्याशी डॉ बर्क 11,145 वोट से आगे
अपडेट- रामपुर : आजम खान ने भाजपा की जयाप्रदा को 13,519 वोट से पीछे छोड़ा।
अपडेट- अमरोहा में गठबंधन प्रत्याशी दानिश अली 19 हज़ार वोट से आगे।
अपडेट- रामपुर में जया आगे।
बीजेपी-43644
गठबंधन-41432
कांग्रेस-2984
अपडेट- मुरादाबाद लोकसभा 42,154 वोटों की गिनती पूरी इनमें गठबंधन प्रत्याशी एसटी हसन को 21575 वोट भाजपा के कुंवर सर्वेश सिंह को 17642 वोट कांग्रेस के इमरान प्रतापगढ़ी को 2309 वोट मिले हैं।इसमे बढ़ापुर शामिल नहीं है। उसे जोड़कर बीजेपी 1300 वोट से आगे है।
अपडेट- रामपुर : जयाप्रदा आजम खान से 1748 वोट से आगे।
अपडेट- मुरादाबाद में गठबंधन प्रत्याशी एसटी हसन 10,000 वोट से आगे।
अपडेट- रामपुर से आज़म खान 535 वोटों से निकले आगे। जयाप्रदा पिछड़ी

लोकसभा चुनावों में जीत का ताज किसके सिर सजेगा, यह आज तय हो जाएगा। दुनिया की सबसे बड़ी लोकतांत्रिक प्रक्रिया के तहत सात चरणों में डाले गए वोटों की गिनती सुबह 8 बजे शुरू हो गई है।रामपुर सीट से भाजपा प्रत्याशी जयाप्रदा आगे चल रही हैं, जबकि सपा-बसपा गठबंधन के उम्मीदवार आजम खां उनसे पीछे हो गए हैं। रुझानों की शुरुआत में जयाप्रदा पीछे थी, लेकिन अब वह आगे चल रही हैं। वहीं मुरादाबाद से भाजपा प्रत्याशी कुंवर सर्वेश सिंह पीछे चल रहे हैं जबकि गठबंधन के प्रत्याशी डॉ हसन दो हजार वोट से आगे चल रहे हैं।

रामपुर

आजम और जया के बीच रोचक चुनावी जंग में सभी की निगाह नतीजों पर

रामपुर, भारत की सबसे ज्यादा हाट सीटों में से एक है। इस सीट पर सपा के बहुचर्चित राष्ट्रीय सचिव आजम खां के मुकाबले अभिनेत्री जयाप्रदा अपनी किस्मत आजमा रही हैं। जया प्रदा रामपुर से दो बार सांसद रह चुकी हैं जबकि नौ बार विधायक रहने वाले आजम खां सपा-बसपा गठबंधन के उम्मीदवार के तौर पर पहली बार लोकसभा की जंग लड़ रहे हैं।

अपने तल्ख बयानों के लिए पहचाने जाने वाले आजम ने कभी जयाप्रदा के पक्ष में रामपुर में प्रचार भी किया था। तब जया प्रदा सपा से ही चुनावी मैदान में थीं। दूसरी बार जयाप्रदा और आजम के रिश्ते तल्ख हो गए। उनके ऊपर जया प्रदा के विरोध और अश्लील वीडियो बंटवाने का भी आरोप लगा।

लेकिन तत्कालीन सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह के करीबी अमर सिंह के समर्थन सहारे जयाप्रदा आजम खां के विरोध के बावजूद चुनाव जीत गई थीं। इस बार बतौर भाजपा उम्मीदवार जया प्रदा आजम को सीधी टक्कर दे रही हैं। तबसे उनके जया प्रदा से रिश्ते काफी तल्ख हैं। इस सीट के नजीते पर सभी की निगाहें लगी हैं।

यहां से कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव संजय कपूर भी कांग्रेस की ओर से चुनावी अखाड़े में हैं। लेकिन उन्हें मुख्य मुकाबले से बाहर ही माना जा रहा है। 2014 में मोदी लहर के बीच भाजपा के नैपाल सिंह ने रामपुर से जीत हासिल की थी लेकिन स्वास्थ्य कारणों से वह चुनावी जंग से बाहर हैं।

अमरोहा

मौजूदा सांसद कंवर से गठबंधन के कुंवर के बीच की रोचक जंग

2014 में अमरोहा संसदीय सीट मोदी लहर के बीच भाजपा के कंवर सिंह तंवर ने जीती थी। इस बार भी वह चुनावी अखाड़े में हैं। उनके मुकाबिल गठबंधन उम्मीदवार कुंवर दानिश अली हैं जो कर्नाटक की सियासत छोड़कर बसपा सुप्रीमो मायावती के बुलावे पर अमरोहा से चुनावी मैदान में बतौर गठबंधन प्रत्याशी कूदे हैं।

कांग्रेस के सचिन चौधरी मुकाबले को तिकोना बनाने की कोशिशों में लगे रहे लेकिन आम जन का यही मानना है कि मुख्य मुकाबला कंवर (सिंह तंवर) और कुंवर (दानिश अली) के बीच में ही है।

संभल 

गठबंधन के बर्क और भाजपा के परमेश्वर के बीच मुकाबला

संभल तुर्क वोटरों के बहुतायत वाली लोकसभा सीट पर भाजपा ने 2014 के युवा सांसद सत्यपाल सैनी का टिकट काट दिया। गठबंधन ने संभल से इस बार ताकतवार तुर्क नेता डा. शफीकुर्रहमान बर्क को उतारा है। 90 साल से ऊपर के बर्क जातीय और गठबंधन के समीकरणों की वजह से संभल के लिए बेहद मजबूत उम्मीदवार माने जा रहे हैं। उन्हें भाजपा के परमेश्वर लाल सैनी कड़ी टक्कर दे रहे हैं।

चंदौसी निवासी परमेश्वर सैनी के साथ रोचक बात यह है कि उन्होंने अपनी जिंदगी चाय वाले के तौर पर शुरू की थी। कभी साइकिल पर गली-गली जाकर छोटे दुकानदारों को चाय सप्लाई करने वाले परमेश्वर सैनी अब बड़े उद्योगपति हैं। उनकी मोहिनी चाय अब बड़ा ब्रांड बन चुकी है। मृदुभाषी परमेश्वर लाल सैनी को चुनावी राजनीति का ज्यादा अनुभव नहीं है।

लेकिन संभल के लोगों का मानना है कि वह मौजूदा सांसद सत्यपाल सैनी से ज्यादा कड़ी टक्कर डा बर्क को दे रहे हैं। कांग्रेस उम्मीदवार मेजर जेपी सिंह ने पहले ही अपनी हार स्वीकार कर ली है।

मुरादाबाद

सिंह, शायर और डाक्टर के बीच कड़ा मुकाबला

भाजपा ने मुरादाबाद में मौजूदा सांसद कुंवर सर्वेश सिंह पर दोबारा दांव खेला है। उनसे मुकाबले में गठबंधन की ओर से शहर के पूर्व मेयर डा एसटी हसन और कांग्रेस की ओर से मशहूर शायर इमरान प्रताप गढ़ी हैं। पहले इस सीट से कांग्रेस ने प्रदेश अध्यक्ष और अभिनेता राज बब्बर को उतारा था। लेकिन राज बब्बर के मना करने पर कांग्रेस ने इमरान प्रतापगढ़ी को उतारा।

इमरान अपनी शेर शायरी से ठीकठाक भीड़ भी खींचते रहे लेकिन सियासी पंडितों का मानना था कि मुख्य मुकाबला कुंवर सर्वेश सिंह और एसटी हसन के बीच में ही सिमटा हुआ है। इमरान की मजबूती एसटी हसन को कमजोर करेगी। इससे सर्वेश को फायदा हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *