धार्मिक आस्था भड़काने वाला वीडियो हुआ वायरल, बवाल हुआ लखीमपुर खीरी में कर्फ्यू

धार्मिक आस्था भड़काने वाला वीडियो हुआ वायरल

Share Now

धार्मिक आस्था भड़काने वाला वीडियो हुआ वायरल, बवाल हुआ लखीमपुर खीरी में कर्फ्यू

धार्मिक आस्था भड़काने वाला वीडियो वायरल हुआ, कल धार्मिक आस्था भड़काने वाला वीडियो वायरल होने के बाद गुरुवार को लखीमपुर में देर रात साढ़े नौ बजे बवाल हो गया इस बजह से शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया है। वीडियो वायरल करने वाले मुख्य आरोपी व दो अन्य को दोपहर में चुपचाप जेल भेज दिया गया।

इससे भड़के दूसरे समुदाय के लोग रात में सड़क पर उतर आए और शहर में जगह-जगह तोड़फोड़ करने लगे। इस बीच गोली चलने से दो व्यक्तियों घायल हो गये, इस घटना को देखते हुए डीएम ने एहतियात के तौर पर कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया। खुर्जा के पहासु के बाद लखीमपुर खीरी में भी सोशल मीडिया पर बुधवार को वीडियो वायरल करके बहुसंख्यक समुदाय को निशाना बनाकर बहुत ही अश्लील और अभद्र टिप्पणीयां की गई थीं। इस मामले में एसपी मनोज कुमार झा के निर्देश पर कोतवाली पुलिस ने बुधवार रात को ही मुख्य अभियुक्त महाराजनगर के रहने वाले माज अहमद को उसके घर दबिश देकर गिरफ्तार कर लिया था।

पुलिस ने पूछताछ में माज अहमद ने बताया कि उसने करीब १० दिन पहले अपने मकान में किराए पर रहने वाले दो व्यक्तियों आरिफ और फैजल के साथ यह वीडियो शूट किया था। आरिफ ईसानगर थाना क्षेत्र के खमरिया का व फैसल धौरहरा का रहने वाला है। आरिफ और फैसल पढ़ रहे हैं और माज अहमद कक्षा १२ का छात्र है। माज अहमद से जानकारियां मिलने के बाद पुलिस ने आरिफ को भी गिरफ्तार कर लिया। अभियुक्तों के खिलाफ आईटी एक्ट की धाराओं २९५-क और १५३-बी आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

इन दोनों अभियुक्तों को पुलिस ने कोतवाली के बजाय गुप्त स्थान पर रखा था, जिसके बाद गुरुवार को दोपहर के बाद कोतवाली पुलिस ने दोनों अभियुक्तों को कोर्ट न ले जाकर सीधे जेल भेज दिया। इस दौरान हिंदू संगठनों ने अभियुक्तों को सामने लाने की मांग करते हुए विरोध प्रदर्शन भी किया। फिर शाम को गुस्से में आये लोगों ने बाजार बंद करा दिया और आरोपियों पर रासुका लगाने की मांग की। देखते ही देखते शहर में कोतवाली के सामने, खपरैला बाजार, मेन रोड, अस्पताल रोड सहित सभी बाजारों के शटर धड़धड़ाकर गिर गए। लोग सड़कों पर आ गए। एहतियात के तौर पर कई थानों कि फोर्स बुला ली गयी। एसपी मनोज कुमार झा ने स्वयं सुरक्षा व्यवस्था की कमान संभालते हुए फोर्स के साथ पैदल मार्च किया। उन्होंने माइक से लोगों को समझाया और रासुका लगाने का आश्वासन दिया।

कुछ देर तो शांति रही, मगर फिर नारेबाजी करते हुए लोग सड़कों पर आ गए। रोडवेज बस अड्डा रोड, मेन रोड और खपरैला बाजार में रेमंड व अन्य कई प्रमुख कंपनियों के शोरूम में तोड़फोड़ शुरू कर दी। दो मोटर साइकिलों में भी आग लगा दी गई। इसी दौरान गोलियां भी चलीं। गोली लगने से राजापुर निवासी रविशंकर और बदलदेव नगर निवासी सचिन गुप्ता घायल हो गए। उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। उन्हें १२ बोर की गोलियां लगना बताया गया है। रविशंकर के सीने पर और सचिन के हाथ में छर्रे लगे हैं। रविशंकर को लखनऊ रेफर कर दिया गया है। इस बीच बड़ी संख्या में लोग कोतवाली पर इकट्ठे हो गए। माहौल बिगड़ता देखकर डीएम ने कर्फ्यू लगा दिया। साढ़े नौ बजे माइक से कर्फ्यू का एलान किया गया।

इस बीच डीएम ने शुक्रवार को एहतियात के तौर पर जिले के सभी स्कूलों में छुट्टी की घोषणा कर दी गई है। यह घोषणा कर्फ्यू लगने से आधा घंटे पहले ही कर दी गई थी। जिलाधिकारी, आकाशदीप ने बताया कि लगातार बवाल होता देखकर अग्रिम आदेश तक कर्फ्यू लगाया गया है। शुक्रवार शाम तक रहने वाली स्थिति को देखकर आगे का निर्णय लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *