अपने सिम को आधार कार्ड के साथ घर से ही लिंक करें, जाने कैसे

सिम से आधार लिंक करें

Share Now

एक सरकारी निर्देश के मुताबिक, मोबाइल यूजर्स को अपने आधार कार्ड को ६ फरवरी, २०१८ को अपने सिम के साथ जोड़ना होगा। यूआईडीएआई (भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण) के अनुसार, १२ अंकों की व्यक्तिगत पहचान संख्या और आधार कार्ड के जारीकर्ता १ दिसंबर, २०१७, आधार कार्ड धारक अपने घर के आराम से अपने यूआईडी को मोबाइल नंबर या सिम से लिंक कर सकते हैं।

यूआईडीएआई ने कहा है कि आपके मोबाइल फोन के सत्यापन के लिए स्थानीय सिम कार्ड रिटेलर को उंगलियों के निशान देने की कोई जरूरत नहीं है। १ दिसंबर २०१७ से, आप अपने घर के आराम से इसे ओटीपी द्वारा आधार के साथ पंजीकृत मोबाइल नंबर पर प्राप्त कर सकते हैं।

मोबाइल फोन ग्राहकों की आसानी के लिए, सरकार ने आधार के साथ सिम को जोड़ने के लिए तीन नए तरीके पेश किए हैं। तीन नए तरीके हैं- ओटीपी या वन-टाइम पासवर्ड आधारित लिंकिंग, ऐप-आधारित लिंकिंग और आईवीआरएस सुविधा के माध्यम से आधार कार्ड। ओटीपी या वन-टाइम पिन यूआईडीएआई द्वारा प्रदत्त प्रमाणीकरण का एक तरीका है।

एक बार पिन-आधारित प्रमाणीकरण के तहत, सीमित अवधि की वैधता वाले एक ओटीपी को आधार नंबर के आधार नंबर धारक के मोबाइल नंबर और ई-मेल पते पर भेजा जाता है। यूआईडीएआई की वेबसाइट के अनुसार आधार संख्या धारक अपने आधार नंबर के साथ प्रमाणीकरण के दौरान इस ओटीपी को प्रदान करेगा और प्राधिकरण द्वारा तैयार किए गए ओटीपी से मेल खाएगा।

अब आधार के साथ किसी के बैंक खाते और बीमा पॉलिसी को जोड़ने के लिए अब अनिवार्य हो गया है और यह करने की समय सीमा ३१ दिसंबर २०१७ है। जबकि, एनआरआई (नॉन रेजिडेंट इंडियन) और भारतीय मूल के व्यक्ति को बैंक खातों और अन्य सेवाओं को आधार के साथ जोड़ने की आवश्यकता नहीं है, भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने शुक्रवार को कहा कि विभिन्न कार्यान्वयन एजेंसियों को ऐसे व्यक्तियों की स्थिति को सत्यापित करने के लिएये प्रक्रिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *