निर्भया के चारों दोषियों को सजा-ए-मौत, इंसाफ मे लगे सात साल

Share Now

फांसी की सजा पाने वाले निर्भया के गुनहगारो को आखिरकार सात साल, तीन महीने और तीन दिन बाद सजा-ए-मौत मिली। निर्भया के चारों दोषियों को शुक्रवार प्रात: 5:30 बजे तिहाड़ जेल में फांसी पर लटकाया गया। इससे पहले पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया के दोषियों की ओर से फांसी टलवाने के लिए दायर याचिका बृहस्पतिवार को खारिज कर दी थी।

उसके बाद दोषियों के वकील ने फांसी की सजा पर रोक लगाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की जिसे शीर्ष अदालत ने भी खारिज कर दिया। आज सुबह 5.30 बजे चारों दोषियों को फांसी पर लटका दिया गया। दोषियों का शव दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल पहुंच चुका है जहां पोस्टमार्टम की वीडियो रिकार्डिंग भी हुई। जेल मैनुअल और सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन के अनुसार ही पोस्टमार्टम किया जाएगा।

पिछले सात साल से निर्भया के दोषियों की फांसी का इंतजार पूरे देश को था ऐसा निर्भया के दोषियों को फांसी के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा। आज सभी को इंसाफ मिला है। निर्भया के साथ जिस तरह की वहशी हरकत हुई और फिर उसकी हत्या कर दी गई। आज उसके दोषियों को फांसी होने के बाद ऐसे लोगों को सबक मिलेगा जिससे कि दोबारा ऐसा न हो।

इन दोषियों के शवों को तिहाड़ से निकालकर अस्पताल ले जाया जा रहा है। बताया जा रहा है कि 8.30 बजे तक दोषियों के शव तिहाड़ पहुंचेंगे। निर्भया के दोषियों को फांसी के बाद जेल के बाहर जुटे लोगों ने मिठाई बांटी। दोषियों के शवों को एंबुलेंस में रखा जा रहा है और फिर दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल ले जाया जाएगा। हरिनगर पुलिस को दोषियों के शव सौंपे गए हैं।

इस मामले के चारों दोषियों को शुक्रवार की सुबह तिहाड़ जेल में फांसी दिए जाने के बाद डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित किया। जेल के महानिदेशक संदीप गोयल ने बताया कि डॉक्टर ने जांच की और चारों को मृत घोषित कर दिया। दीनदयाल अस्पताल में चारों शवों का पोस्टमार्टम होगा, जिसके बाद उनके परिजनों को सौंपा जाएगा।

सूत्रों ने बताया कि 30 मिनट बाद फंदे से चारों शव उतारे गए। साथ ही पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी की जाएगी। हालांकि अभी तक ये स्पष्ट नहीं है कि परिवार शव लेगें या नहीं। अगर परिजन शव लेने से इनकार करते हैं तो पुलिस उनका अंतिम संस्कार करेगी। दोषियों को फांसी होने के बाद लंबे समय से इंसाफ की जंग लड़ रहीं निर्भया की मां आशा देवी ने कहा कि हमारी बेटी इस दुनिया में नहीं है और नहीं वापस लौटेगी।

और कहा कि हमने उसके जाने के बाद यह लड़ाई शुरू की, यह संघर्ष उसके लिए था लेकिन हम अपनी और बेटियों के लिए यह लड़ाई जारी रखेंगे। मैंने अपनी बेटी की तस्वीर गले से लगाई और कहा कि आखिरकार तुम्हें इंसाफ मिल गया बेटी। सुप्रीम कोर्ट द्वारा दोषियों की याचिका खारिज होने के बाद निर्भया की मां ने संतोष जताया।

उन्होंने कहा कि मैं संतुष्ट महसूस कर रही हूं क्योंकि आखिरकार हमारी बेटी को इंसाफ मिल गया है। पूरा देश इस अपराध की वजह से शर्मसार था, आज देश को इंसाफ मिला है। उन्होंने कहा कि आखिरकार दोषी फांसी पर लटकाए जाएंगे। सुप्रीम कोर्ट ने उनकी याचिका खारिज कर दी है। मैं सभी लोगों को खासतौर पर हमारे समाज, बेटियों और महिलाओं को धन्यवाद देती हूं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *